अब भारत की हर चीज पर मेरा हक : अदनान सामी

गोवा दसियों बार गया था. लेकिन भारत की नागरिकता मिलने के बाद जब गया तो लगा कि यह नारियल का पेड़ मेरा है. सामने हिलोरें ले रह समंदर मेरा है, इस देश की हर चीज पर मैं अब अपना हक समझता हूं. इस अनुभव को पाने के लिए पूरे 17 साल इंतजार किया है मैंने.

यह कहना है मशहूर गायक अदनान सामी का. वह एक कार्यक्रम के सिलसिले में रांची आए. कई मुद्दों पर खुलकर बात की. उन्हें इसी साल भारत की नागरिकता हासिल हुई है.

उन्होंने कहा कि यह मैं पूरी जिंदगी में कभी शब्दों में बयां नहीं कर पाऊंगा कि भारतीय होना कितना सुखद एहसास है. भारत और पाकिस्तान में कई लोगों ने भला बुरा कहा. लेकिन जो मुझे जानते हैं, उनको पता है कि भारतीय होने की तड़प मेरे दिल में कितनी थी. इसलिए नागरिकता मिलने के बाद सब बहुत खुश हैं.

मैं एक डिप्लोमैट का बेटा हूं. मेले वालिद 14 देशों में एंबेसडर रहे हैं. मुझे डिप्लोमेसी आती है. लोगों को जवाब उसी तरीके से दिए. कभी किसी कैंप का हिस्सा नहीं रहा. हमेशा सभी का प्यारा रहा. वैसे भी आनंद बक्शी साहब कह चुके हैं कि कुछ तो लोग कहेंगे, लोगों का काम है कहना.

जब से धौनी के बारे में सुना, तब से रांची आना चाहता था. लेकिन कहते हैं न कि जब किस्मत में लिखा होता है, तभी कुछ मिलता है. सच बता रहा हूं, रांची आने के लिए बहुत उत्सुक था. जल्द ही लोगों को कुछ और बेहतरीन कव्वाली सुनने को मिलेगा. बजरंकी भाईजान की तरह.

Please follow and like us:

Comment via Facebook

comments