मैं चयनकर्ता होता तो युवी वर्ल्ड कप जरूर खेलता : दिलीप वेंगसरकर

किसी समय स्टार क्रिकेटर, फिर मुख्य चयनकर्ता रहे दिलीप वेंगसरकर को युवी के टीम में ना होने से काफी आश्चर्य हुआ है। उनका मानना है कि युवराज बहुत ही बढ़िया फॉर्म में हैं, उन्हें शामिल करना चाहिए। शनिवार को वह रांची 5वें सीसीएल टूर्नामेंट के सिलसिले में पहुंचे। यहां वह तेलगु वॉरियर्स टीम के मेंटॉर की हैसियत से आए हैं। उन्होंने धौनी, युवराज, जहीर, गंभीर सहित क्रिकेट और वर्ल्ड के बारे में खुलकर बात की। पेश है बातचीत के मुख्य अंश…

17 फरवरी 2014


धौनी के बारे में क्या खयाल हैं?
बहुत बढ़िया। वह आउटस्टैंडिंग कैप्टन हैं। देश में उनका प्रदर्शन हर फॉर्मेट में काफी बेहतर रहा है। हां, बाहर उतना अच्छा नहीं खेला। लेकिन ओवर ऑल बहुत अच्छा खिलाड़ी, कैप्टन और इंसान है। सन्यास लेना उसका निर्णय है, सभी को उसका सम्मान करना चाहिए।

2015 वर्ल्ड कप की टीम के बारे में क्या कहेंगे?
अनुभव और युवा का गठजोड़ हमेशा फायदेमंद होता है। मैं जब चयनकर्ता था, तो अनुभवी और यूथ का कॉंबीनेशन ज्यादा बनाया। लेकिन इस बार यहां थोड़ा ज्यादा नए खिलाड़ी हैं। मेरे खयाल से युवराज और अमित मिश्रा को टीम में लेना चाहिए था। यह टीम भी काफी अच्छी है। बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद की जानी चाहिए। एक बार फिर कहूंगा कि मैं चयनकर्ता होता तो युवराज को जरूर शामिल करता। लास्ट वर्ल्ड कप में तो वह मैन ऑफ द टूर्नामेंट रहा था।

इस टीम में किस प्लेयर से ज्यादा उम्मीदें हैं?
किसी खास प्लेयर के बारे में कहना मुश्किल है। यह टीम गेम है। टीम दो महीने से ऑस्ट्रेलिया में ही खेल रही है। वर्ल्ड कप में बहुत काम आनेवाला है। टेस्ट खेलने का फायदा मिलना चाहिए। हालांकि भारत सबसे प्रबल दावेदार है। इस टीम से भी उम्मीद की जानी चाहिए कि वह देश को फिर से वर्ल्ड कप की खुशी दे सकती है।

सहवाग, युवराज, गंभीर जैसे खिलाड़ियों के कैरियर खत्म होने के कयास लग रहे हैं?
हां, लोग जहीर खान, युवराज सिंह, गौतम गंभीर, विरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह जैसे प्लेयर के बारे में बात कर रहे हैं। मैं इससे बिल्कुल भी इत्तेफाक नहीं रखता। युवराज तो बहुत बढ़िया फॉर्म में हैं। हाल ही में तीन शतक लगाए हैं। बाकि खिलाड़ियों में काफी क्रिकेट बची है। हां यह बात सही है कि उन्हें बेहतर लेवल पर आकर प्रदर्शन करना होगा।

सीसीएल का हिस्सा क्यों बने?
बहुत मजा आ रहा है। यह एक्टर काफी गंभीर हैं। मैं तो कहता हूं कि इनमें कुछ एक्टर नहीं होते तो फर्स्ट क्लास क्रिकेट में जरूर होते। यह काफी मेहनत भी कर रहे हैं। टीम के अखिल, सचिन जोशी में काफी संभावनाए हैं। मैं भी खूब एन्जॉय कर रहा हूं।

 

Please follow and like us:

Comment via Facebook

comments